ऋषिकेश में 2 महीने नहीं उठा पाएंगे राफ्टिंग का मजा, सितंबर से शुरू होगा रोमांच का सिलसिला

मॉनसून के चलते ऋषिकेश में राफ्टिंग दो महीने यानी जुलाई और अगस्त में बंद रहेगी। 1 सितंबर से गंगा में दोबारा राफ्टिंग शुरू कराई जाएगी।

Share

आज यानी एक जुलाई से ऋषिकेश में गंगा में राफ्टिंग का संचालन बंद रहेगा। जुलाई और अगस्त में राफ्टिंग का संचालन बंद रहेगा। Rishikesh River Rafting एक सितंबर से गंगा में दोबारा राफ्टिंग शुरू कराई जाएगी। मानसून शुरू होते ही ऋषिकेश में राफ्टिंग बंद हो जाती है। हर साल बरसात में नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण रिवर राफ्टिंग को बंद कर दिया जाता है। पर्वतीय क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश के कारण गंगा का जलस्तर बढ़ गया है। एक जुलाई से लेकर 31 अगस्त तक राफ्टिंग पर रोक रहती है। अप्रैल से लेकर जून तक राफ्टिंग के शौकीनों की भीड़ बढ़ती है। इस दौरान पर्यटकों का क्रेज देखते ही बनता है। सुबह से लेकर शाम तक करीब 15 सौ पर्यटक राफ्टिंग का आनंद उठाते हैं।

गंगा नदी रिवर राफ्टिंग समिति से मिली जानकारी के अनुसारपर्वतीय क्षेत्रों में बारिश के बाद गंगा का जलस्तर बढ़ जाता है। नदी के जलस्तर को देखते हुए 30 जून तक कौड़ियाला, मरीन ड्राइव, शिवपुरी, ब्रह्मपुरी और क्लब हाउस से रिवर राफ्टिंग का संचालन बंद कर दिया जाता है। राफ्टिंग के शौकीनों को अब दो माह तक इंतजार करना होगा। बरसात सीजन के कारण जुलाई और अगस्त में इसका संचालन बंद रहेगा। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पर्यटन विभाग की ओर से भी इस बाबत आदेश जारी किए गए हैं। इन दो महीनों में राफ्ट को गंगा में उतरने की अनुमति नहीं होगी। ऋषिकेश साहसिक गतिविधियों के लिए पर्यटकों की सबसे पसंदीदा जगह बनती जा रही है। यहां पर रिवर राफ्टिंग के साथ ही दूसरी स्पोर्ट्स एक्टिविटीज होती है। जिसके कारण पर्यटकों की अच्छी खासी भीड़ जुटी रहती है। ऐसे में ऋषिकेश अब पर्यटकों की पहली पसंद बनती जा रही है।