पौड़ी को सीएम धामी ने दी 133 करोड़ रुपए की योजनाओं की सौगात, बोले- नो पेंडेंसी के सिद्धांत के आधार पर कार्य करें अधिकारी

मुख्यमंत्री धामी ने पौड़ी में 133 करोड़ की 158 योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। जिसमें 80 करोड़ की 137 योजनाओं का लोकार्पण शामिल है। जबकि 53 करोड़ की 21 योजनाओं का शिलान्यास शामिल है।

Share

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को गढ़वाल मण्डल मुख्यालय पौडी में विकास कार्यों की समीक्षा की। Pauri Cm Dhami Meeting इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 133 करोड़ की 158 योजनाओं का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया, जिसमें 80 करोड़ की 137 योजनाओं का लोकार्पण तथा 53 करोड़ की 21 योजनाओं का शिलान्यास शामिल है। मुख्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि योजनाओं का क्रियान्वयन नो पेंडेंसी के सिद्धांत के आधार पर किया जाए। उन्होंने पौड़ी के पुराने वैभव को बनाए रखने के लिए सभी विभागों से कार्य योजना तैयार करने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पौड़ी में प्रतियोगी परीक्षाओं और सेना में जाने की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए हॉस्टल का निर्माण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि जनहित से जुड़े कार्य मात्र औपचारिक न हो बल्कि उसका ठोस आउटकम भी निकले। मुख्यमंत्री ने सभी सरकारी भवनों की छत पर सोलर पैनल और रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवाने के भी निर्देश दिये।

सीएम धामी ने कहा कि जो भी सभी विधायक और जनप्रतिनिधि हैं, वो अपने-अपने घरों में सोलर पैनल लगाकर दूसरों को प्रेरित करें। उन्होंने जिले में झूलती, पुरानी बिजली की तारों, झुके और जर्जर खंभों को बदलने को कहा। इसके अलावा उन्होंने हरेला पर्व में पौधारोपण को जनांदोलन बनाने को कहा। उन्होंने मंडलीय कार्यालय मुख्यालय पौड़ी से संचालित करने करने की बात कही। साथ ही उन्होंने मानसून में सभी अफसरों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए। वहीं, सीएम धामी ने अफसरों को दो टूक कहा कि विभागों में आमजन की शिकायतें लंबित न रहें, उनका त्वरित समाधान हो। जनहित से जुड़े कार्य मात्र औपचारिक ना हो, बल्कि उसका ठोस आउटकम भी निकले। उन्होंने पौड़ी में पेयजल संकट पर अफसरों को जल्द व्यवस्था सुचारू करने को कहा। अधिकारियों ने शहर में पेयजल व्यवस्था सुचारू करने के लिए एक अतिरिक्त पेयजल योजना की जरूरत बताई।