बधाई! गढ़वाल की बेटी बनी सेना में लेफ्टिनेंट, फौजी पिता का सपना किया पूरा

कीर्तिनगर ब्लॉक के ग्राम पंचायत बागवान की अलका रावत का भारतीय सेना में चयन हुआ है। अलका भारतीय सेना के मेडिकल नर्सिंग विंग में लेफ्टिनेंट के पद पर तैनात हुई हैं।

Share

उत्तराखंड की बेटियां लगातार राज्य का नाम ऊंचा कर रही हैं। अपनी काबिलियत का प्रदर्शन कर देवभूमि की होनहार बेटियां यह साबित कर रही हैं कि वे किसी से कम नहीं हैं। Alka became lieutenant भारतीय सेना में भी उत्तराखंड की होनहार बेटियां भर्ती होकर राज्य का नाम रोशन कर रही हैं। कीर्तिनगर ब्लॉक के ग्राम पंचायत बागवान की अलका रावत का भारतीय सेना में चयन हुआ है। अलका भारतीय सेना के मेडिकल नर्सिंग विंग में लेफ्टिनेंट के पद पर तैनात हुई हैं। बीते 14 जून को पूणे में हुई पासिंग आउट परेड के बाद वह सेना का हिस्सा बनीं। अलका की स्कूली पढ़ाई आर्मी स्कूल से हुई है। उन्होंने सैनिक स्कूल रायवाला से 12वीं की पढ़ाई की। इसके बाद जौलीग्रांट से 4 वर्षीय बीएससी नर्सिंग की डिग्री हासिल की।

अलका के पिता हरि सिंह रावत भी भारतीय सेना का हिस्सा रह चुके हैं। वह 7वीं गढ़वाल राइफल से हवलदार के पद से रिटायर हुए हैं। वर्तमान में वे दिल्ली गेल इंडिया लिमिटेड में नौकरी कर रहे हैं। हरि सिंह रावत ने बताया वे खुद सेना का हिस्सा रहे इसलिए उन्होंने बच्चों को सैनिक स्कूल में पढ़ाया। बीएससी नर्सिंग करने के बाद अलका ने एक माह सीएचओ में नौकरी भी की। इस बीच एमएनएस के फार्म आए। अलका ने खुद के लिए सेना में जाने का रास्ता बना लिया। बीते 14 जून को अलका के कंधों पर सितारे लगे। वे इस पल को देखने के लिए वहां मौजूद नहीं थे। अलका की मां कांति देवी ने कहा बेटी के सेना में अफसर बनने के बाद से ही बधाई देने वालों का तांता लगा है। अलका का छोटा भाई 12वीं पास करने के बाद सेना में जाने की तैयारी कर रहा है। अलका का इस उपलब्धि के बाद क्षेत्र में खुशी का माहौल है। हर कोई अलका को बधाई दे रहा है।