उत्तराखंड: जेठानी की जान बचाने के लिए भालू से भिड़ी देवरानी, महिलाओं की हिम्मत के आगे भालू ने टेका घुटना

जंगल में चारापत्ती लेने गई जेठानी पर भालू ने हमला किया तो जेठानी की जान बचाने के लिए देवरानी हाथ में दरांती लेकर भालू से भिड़ गई।

Share

जंगल में चारापत्ती लेने गई जेठानी पर भालू ने हमला किया तो जेठानी की जान बचाने के लिए देवरानी हाथ में दरांती लेकर भालू से भिड़ गई। Sister-in-law clashed with bear महिला की हिम्मत के आगे भालू ने घुटने टेक दिए और भाग खड़ा हुआ। हालांकि, भालू के हमले में देवरानी-जेठानी दोनों घायल हुई। भालू के भागने के बाद दोनों महिलाएं स्वयं ही घर की ओर वापस आने लगी। इस बीच रास्ते में मिले अन्य ग्रामीण उन्हें लेकर गांव में पहुंचे और दोनों को कोटद्वार के बेस चिकित्सालय में भर्ती कराया। जनपद पौड़ी गढ़वाल के प्रखंड द्वारीखाल के अंतर्गत ग्राम बिरमोली निवासी लक्ष्मी देवी (48) रिश्ते में अपनी जेठानी पुष्पा देवी (50) के साथ बीते शुक्रवार क देर शाम गांव के समीप ही जंगल में मवेशियों के लिए चारापत्ती लेने गई हुई थी।

इसी दौरान अचानक झाड़ियों से निकले भालू ने पुष्पा देवी पर हमला कर दिया। पास में ही चारापत्ती काट रही लक्ष्मी देवी ने जब भालू को पुष्पा पर झपटते देखा तो वह तत्काल हरकत में आ गई और भालू से भिड़ गई। चारापत्ती काटने के लिए हाथ में पकड़ी दरांती से लक्ष्मी ने अपने बचाव के साथ ही भालू पर प्रहार करने शुरू कर दिए। लक्ष्मी की हिम्मत देख पुष्पा में भी हिम्मत आई और दोनों महिलाओं ने भालू पर हमला कर दिया। पलटवार में महिलाए जब भालू पर भारी पड़ने लगीं तो भालू उल्टे पांव मौके से भाग खड़ा हुआ। ग्रामीणों ने महिलाओं को कोटद्वार बेस अस्पताल पहुंचाया। दोनों महिलाओं के हाथों में चोटें आई हैं, और भालू के पंजों से घाव हुए हैं। फिलहाल घायल महिलाओं का अस्पताल में उपचार चल रहा है।